Fatawa Hindi : Faal Nikalna फाल निकालना और ज्योतिषी के पास जाना

Fatawa Hindi

Fatawa Hindi : Faal Nikalna Aur Najumi Ke Paas Jaana

फाले निकालना और ज्योतिषी के पास जाना

सवाल – अमलियात (ताबीज) की कई किताबों में फ़ालनामे होते है, जैसे “दीवान ए हाफिज” तो ऐसे फ़ालनामे से फ़ाल निकालना केसाहे? क्या इस से ईमान में खराबी आएगी?.

जवाब – नेक फाली ली जा सकती है, इस को यक़ीनी चीज़ न समझ जाए, लेकिन ज्योतिषी और काहिन के पास जाकर फाल निकलवाना और उनसे ग़ैब की बातें पूछना गुनाह ए कबीरा (महा पाप) है, हदीस में इस पर कड़ी चेतावनी आई है,

मिशक़ात शरीफ में है:

 عن ابی ھریرۃ رضی اللہ عنہ قال قال رسول اللہ صلی اللہ علیہ وسلم من اتی کاھناً فصدقہ بما یقول…. فقد بری مما انذل علیٰ محمد صلی اللہ علیہ وسلم। रसूलुल्लाह (स.अ.व.) ने इरशाद फरमाया: जो व्यक्ति ज्योतिषी के पास गया और इस बात की तस्दीक़ (पुष्टि) की है, तो तहक़ीक़ के वो उस बात से बेज़ार हुआ जो मुहम्मद स. अ. व. पर उतारी गई। (मिशक़ात शरीफ पृष्ठ 393 बाब उल कहानत) मज़ाहिर ए हक़ में है: निराश हुआ यानी काफ़िर हुआ यह व्याख्या है हलाल जानने या या तग़लीज़ ओ तश्दीद है ऊपर करने इन शनायेअ के। (मज़ाहिर ए हक़ पेज 30 जिल्द 4). फ़क़त अल्लाह ज़्यादा जानने वाला है।

(फतावा रहीमया : जिल्द 1 – किताब उल ईमान वल अक़ाइद – पेज 263)

गौरतलब:

आश्चर्य की बात है कि इस दौर में ज्योतिषी और याजकों के मानने वाले बजाएकम होने के और बढ़ गए हैं, इस का कारण शायद यह है कि लोगों को गुमराह करने के नए तरीके ईजाद कर लिए गए हैं, अब कंप्यूटर और इंटरनेट से और टीवी की मदद से इसे आम किया जा रहा है, ज्योतिषियों ने अपने कार्यालय खोल रखे हैं, और लोग उसे आधुनिक तकनीक समझ कर इस्तेमाल कर रहे हैं, टीवी पर नाम का अंक निकालने वाले और सितारों की चाल को देख कर आप का भविष्य बताने का दावा करने वालों से अब सावधान हो जाइए, यह आप को कुफ्र तक पहुंचा सकते हैं, हदीस के अनुसार उनके पास जाना, और उनकी बात को सही समझना कुफ्र है, हक़-तआला हम तमाम के ईमान की हिफाज़त फरमाए … आमीन।

अहक़र : सय्यिद अतीक़ुर्रहमान (सय्यिद रांदेरी)
मक्तबा राहिमियाह, रांदेर, सूरत
Admin : www.mehfileislam.com

Mazeed :  Hindi Articles   |   Fatawa Rahimiyah Hindi

 

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published.