Fatwa Hindi Masaail : Mareez Ka Baith Kar Namaz Padhna | हिंदी

Fatwa Hindi Masaail : islam in hindi

Fatwa Hindi Masaail : Mareez Ki Namaz

सवाल – बीमार आदमी मस्जिद में आकर जमात के साथ नमाज़ पढ़ता है मगर बैठकर पढ़ता है, इस का क्या हुक्म है, क्या जाइज़ है या नाजाइज़?

जवाब – जो बीमार क़याम (खड़े रहने) से आजिज़ है यानी अगर खड़ा रहे तो गिर जाने या रोग बढ़ जाने या जलद अच्छा ना होने की आशंका हो या बेहद तकलीफ होती हो इसके लिए बैठ कर नमाज़ पढ़ना जायज़ है, लेकिन अगर खड़े रहने की ताक़त है तो बैठकर पढ़ना जायज़ नहीं है, अगर थोड़ी देर खड़ा रह सकता हो तो इतनी देर खड़ा रहे, भले ही खड़े होकर तकबीर तहरीमह (अल्लाह अकबर) कहने की शक्ति हो तो तकबीर तहरीमह खड़ा होकर कहे फिर बैठ जाए, कुछ रोगी खड़े होते हैं तो भी बैठ कर तकबीर तहरीमह कहते हैं यह जाइज़ नहीं है, दुर्रे मुख्तार में है : وان قدر علی بعض القیام …الخ

फ़क़त : अल्लाह ज़्यादा जान्ने वाला है .. ( फतवा रहिमियाह । जिल्द पंजुम । बाब सिफ़त अल सलात । पेज २० – २१ )

Mazeed :  Hindi Articles   |   Fatawa Rahimiyah Hindi

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published.